कुशीनगर के बाद जेवर और अयोध्या अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट का इंतजार
कुशीनगर के बाद जेवर और अयोध्या अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट का इंतजार


20 Oct 2021 |  14



 धनंजय सिंह स्वराज सवेरा एडिटर इन चीफ यूपी 



लखनऊ।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को उत्तर प्रदेश के कुशीनगर पहुंचकर अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट का उद्घाटन किया। उत्तर प्रदेश इसके साथ ही देश का इकलौता राज्य बनने की तरफ अग्रसर है, जहां पर पांच अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट चालू होंगे।एयर कनेक्टिविटी के लिहाज से भारत में केरल, गुजरात और महाराष्ट्र काफी आगे हैं। मगर जिस तरह से यूपी में कुशीनगर एयरपोर्ट के उद्घाटन के बाद की हालत दिखायी दे रही है, इससे यही अंदाजा लगाया जा सकता है कि यूपी जल्द सिकंदर बनकर नंबर वन पर रहेगा।



सूबे की राजधानी लखनऊ और देश की सांस्कृतिक राजधानी वाराणसी में अंतर्राष्ट्रीय प्लेन उड़ान भरते हैं। डीजीसीए ने कुशीनगर को अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट का लाइसेंस दिया है। कुशीनगर अब यूपी का तीसरा अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट बन गया है।गौतमबुद्ध नगर के जेवर और रामनगरी अयोध्या में भी अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट का निर्माण होना अभी बाकी है।लखनऊ, वाराणसी, कुशीनगर के साथ ही अयोध्या और जेवर एयरपोर्ट से भी प्लेन उड़ान भरना शुरू करेंगे।



लखनऊ, वाराणसी, कानपुर, प्रयागराज, आगरा, गोरखपुर, गाजियाबाद से एयर सर्विसेज जारी हैं। कुछ दिनों में बरेली एयरपोर्ट से भी प्लेन उड़ान प्लेन उड़ान भरेंगे।यूपी में लखनऊ और वाराणसी से अंतर्राष्ट्रीय प्लेन उड़ान भरते है। कुशीनगर अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट की शुरुआत के साथ गौतमबुद्ध नगर और अयोध्या में आधुनिक सुविधाओं से लैस अंतर्राष्ट्रीय लेवल के एयरपोर्ट की शुरूआत होने जा रही है।विश्व के कई देशों के लिए यहां से प्लेन उड़ान भरेंगे।



गौतमबुद्ध नगर के जेवर में अभी अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट का निर्माण कार्य जारी है। इसे ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट की तर्ज पर बनाया जा रहा है।इस अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट में पांच रनवे होंगे। पहले फेज में दो रनवे का काम पूरा करने की बात कही गई है। पहले फेज के काम के पूरा होने के बाद प्लेन उड़ान भरना शुरू कर देंगे। दूसरे फेज में तीन रनवे का निर्माण कार्य पूरा करना है और इसके लिए जमीन अधिग्रहण का काम शुरू है।



मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्रीराम की नगरी अयोध्या में भी अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट बनाने का निर्माण कार्य तेजी के साथ जारी है।रामनगरी के एयरपोर्ट के लिए केंद्र सरकार ने 250 करोड़ और यूपी सरकार ने 21.99 करोड़ रुपए दिए हैं। एयरपोर्ट निर्माण कार्य के लिए 377 एकड़ भूमि भी उपलब्ध कराई जा चुकी है।रामनगरी अयोध्या के अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट से 2022 से प्लेन उड़ान भर सकते है।उत्तर प्रदेश में बन रहे एयरपोर्ट में अत्याधुनिक तकनीकों का इस्तेमाल किया जा रहा है।इन्हें ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट के रूप में विकसित किया जा रहा है।



More news