हिंदू धर्म ग्रहण करने के बाद वसीम रिजवी ने कहा,इस्लाम धर्म नहीं,आतंकियों का एक गुट
हिंदू धर्म ग्रहण करने के बाद वसीम रिजवी ने कहा,इस्लाम धर्म नहीं,आतंकियों का एक गुट


06 Dec 2021 |  30





गाजियाबाद।उत्तर प्रदेश शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष वसीम रिजवी ने बाबरी विध्वंस की बरसी पर हिंदू धर्म ग्रहण कर लिया है।डासना मंदिर में रिजवी ने हिंदू धर्म की दीक्षा ली है। रिजवी ने हिंदू धर्म ग्रहण करने के बाद इस्लाम को लेकर विवादित बयान दिया है।

मिली जानकारी के अनुसार वसीम रिजवी को आज गाजियाबाद के डासना मंदिर के पुजारी यति नरसिंहानंद सरस्वती के सामने हिंदू धर्म का ग्रहण किया है।रिजवी लगातार अपने बयानों से सुर्खियों में बने रहते हैं।रिजवी ने पिछले दिनों अपनी वसीहत भी जारी किया था। रिजवी अब त्यागी जाति में जाएंगे।

रिजवी ने हिंदू धर्म ग्रहण करने के बाद इस्लाम को लेकर विवादित बयान दिया है।रिजवी ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा है कि इस्लाम एक आतंकी गुट है ना कि कोई धर्म। हिंदू धर्म सबसे पुराना धर्म है और इसलिए मैं यहां आया हूं।

आपको बता दें कि एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी की शिकायत के आधार पर रिजवी और उनके सहयोगियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धाराओं 153 ए, 295 ए और अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया था।रिजवी ने एक पुस्तक लिखी है।उस पुस्तक में एक विशेष धर्म के इश्वर पर टिप्पणी की थी।


More news