अखिलेश की 300 यूनिट फ्री बिजली के बाद समाजवादी पेंशन योजना साबित हो सकती है गेम चेंजर
अखिलेश की 300 यूनिट फ्री बिजली के बाद समाजवादी पेंशन योजना साबित हो सकती है गेम चेंजर


20 Jan 2022 |  45



धनंजय सिंह स्वराज सवेरा एडिटर इन चीफ यूपी

लखनऊ।उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के चुनावी अखाड़े में कुस्ती की शुरुआत दस फरवरी से होने जा रही है।चुनावी कुस्ती से पहले राजनीतिक पार्टियां वोटरों को अपने पाले में लाने के लिए सभी दांव चल रही हैं।किसी से कोई पीछे नहीं रहना चाहता है।

सपा मुखिया अखिलेश यादव ने कुछ दिन पहले ही ऐलान कर चुके है कि सपा सरकार बनने के बाद उत्तर प्रदेश में 300 यूनिट बिजली फ्री दी जाएगी। 300 यूनिट फ्री बिजली देने के ऐलान के बाद अब अखिलेश ने एक और मास्टर स्ट्रोक खेला है। इस मास्टर स्ट्रोक का जनता पर कितना असर पड़ेगा ये तो समय ही बताएगा, लेकिन ऐसे वादों पर अगर जनता भरोसा करती है तो सपा को फायदा हो सकता है।बैरहाल विपक्ष इसे केवल चुनावी लॉलीपाप बता रहा है।विपक्ष का दावा है कि ये सब वादे खोखले हैं और इनका कोई मतलब नहीं है क्योंकि यूपी में जनता भाजपा को आशीर्वाद देने जा रही है।

समाजवादी पेंशन राशि 6 हजार से बढ़कर 18000 वार्षिक होगी

समाजवादी पार्टी के मुखिया व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने हाल ही में 300 यूनिट फ्री बिजली देने का ऐलान किया था।सपा मुखिया ने बुधवार को वादा किया कि 2022 की विधानसभा के बाद पार्टी की सरकार बनने के बाद राज्य की सभी गरीब महिलाओं को 18,000 रुपये वार्षिक 'समाजवादी' पेंशन मिलेगी। सपा ने 2012 में सत्ता में आने के बाद गरीब महिलाओं को 500 रुपये की मासिक पेंशन देने की घोषणा की थी,जिसे प्रत्यक्ष बैंक हस्तांतरण प्रणाली के माध्यम से वितरित किया गया था।ग्रामीण क्षेत्रों में बैंकों के विस्तारित नेटवर्क के साथ उपयोग में लाया गया था।

सपा सरकार में बटोरी थी समाजवादी पेंशन योजना ने सुर्खियां

सपा मुखिया अखिलेश यादव ने समाजवादी पेंशन में दो गुना वृद्धि का वादा किया है जो कि सपा सरकार बनने पर दी जाएगी। सपा ने महिलाओं के लिए पिछली समाजवादी पेंशन योजना ने तब सुर्खियां बटोरीं जब सरकार ने फिल्म स्टार विद्या बालन को इस योजना के लिए एक राजदूत के रूप में नियुक्त किया,प्रोमो में दिखाए गए थे,अधिक से अधिक लाभार्थियों को शामिल करने के लिए तैयार किए गए थे।

सपा मुखिया ने कहा कि जब पिछली समाजवादी पार्टी सरकार में पहली बार यह योजना शुरू की गई थी,तो यह तुरंत हिट हो गई थी।मुझे याद है कि वाराणसी में मुसर समुदाय में महिलाओं की दुर्दशा को उजागर करने वाली एक समाचार रिपोर्ट आई थी। मैंने तत्कालीन जिला मजिस्ट्रेट से उन सभी को योजना के तहत सूचीबद्ध करने के लिए कहा था।

महिलाओं को आर्थिक रूप से मदद करने की कवायद

सचिव और मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी कहते हैं कि इस बार हम उन महिलाओं तक पहुंचेंगे जो विशेष रूप से अब वृद्धावस्था के कारण परिवार की कमाई में योगदान नहीं दे सकती हैं,और उन्हें किसी भी महिला के अलावा नामांकित किया जाएगा जो कमाई नहीं कर रही थी और गरीबी रेखा से नीचे की श्रेणी में आई थी। इस तरह की रियायतें न केवल महिलाओं को आर्थिक रूप से मदद करती हैं, बल्कि उन्हें परिवार में सम्मान और महत्व भी देती हैं।

सपा की बड़ी घोषणाओं में शामिल है पेंशन योजना

उत्तर प्रदेश के लोगों के लिए सपा द्वारा की गई समाजवादी पेंशन दूसरी बड़ी घोषणा है। इससे पहले पार्टी ने किसानों को सिंचाई के लिए मुफ्त बिजली,गन्ना खरीद के लिए रिवाल्विंग फंड, कृषि उद्देश्यों के लिए ब्याज मुक्त ऋण के अलावा घरेलू उपयोगकर्ताओं को 300 यूनिट मुफ्त बिजली देने का वादा किया था। पार्टी पहले से ही एक कार्यप्रणाली पर काम कर चुकी है जिसके माध्यम से इन कल्याणकारी योजनाओं का वित्तीय बोझ साझा किया जाएगा और पार्टी के चुनाव घोषणापत्र में प्रत्येक योजना से संबंधित इस तरह का विवरण होगा।

सपा के दावे हवा हवाई, जनता को विश्वास नहीं

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता आनंद दुबे ने कहा कि सपा इस तरह की घोषणाएं कर लोगों को बरगलाने में माहिर है। महिलाओं के लिए सरकार ने पांच साल में इतने काम हुए हैं कि सपा घबरा गई है। योगी सरकार और मोदी सरकार की नीतियों की वजह से महिलाओं को उज्जवला योजना, आवास योजना जैसी योजनाओं का लाभ मिला। गरीब घरों की महिलाओं के घरों में चूल्हा जलाने का काम योगी सकरकार ने किया है। जनता इस बार योगी सरकार की नीतियों में अपना विश्वास व्यक्त करेगी और पूर्ण बहुमत की सरकार बनाएगी।


More news