यूपी में सोनभद्र के रास्ते हुई मानसून की एंट्री,रिमझिम फुहारों के लिए लखनऊ को 5 दिन करना होगा इंतजार
यूपी में सोनभद्र के रास्ते हुई मानसून की एंट्री,रिमझिम फुहारों के लिए लखनऊ को 5 दिन करना होगा इंतजार

21 Jun 2022 |  30




लखनऊ।भीषण गर्मी और उमस से परेशान लोगों के लिए एक अच्छी खबर है।यूपी के लोगों को भीषण गर्मी और उमस से जल्द ही राहत मिलने वाली है।दक्षिण-पश्चिमी मानसून ने यूपी में एंट्री की है।सोमवार को सोनभद्र और बलिया में मानसून की पहली बरसात हुई।पूर्वी यूपी के जिलों में मौसम बदल गया है।पूरे यूपी में तापमान में भी गिरावट हुई है।अधिकतम तापमान 38 डिग्री सेल्सियस के नीचे आ गया है। कई जगह तापमान सामान्य से कम दर्ज किया गया।हालांकि राजधानी लखनऊ में मानसून के लिए लोगों को अभी इंतजार करना पड़ेगा।मौसम विभाग के मुताबिक राजधानी में अभी पांच दिनों तक लोगों को गर्मी और उमस झेलनी पड़ेगी। 26 से 27 जून तक मानसून राजधानी पहुंच सकता है।

मौसम विभाग ने भविष्यवाणी की थी कि 16 से 17 जून तक मानसून यूपी में प्रवेश कर जाएगा,लेकिन ऐसा नहीं हुआ।अब बिहार से होते हुए मानसून ने सोनभद्र और बलिया में प्रवेश किया है।मानसून की प्रबलता कम होने से सोनभद्र, चुर्क, राबर्ट्सगंज, शक्तिनगर में मामूली बरसात हुई पर बलिया में 11 मिलीमीटर बरसात दर्ज की गई। वहीं झांसी में स्थानीय कारकों के कारण 4 मिली मीटर वर्षा दर्ज की गई। जबकि वहां रविवार को 39 मिलीमीटर बरसात दर्ज की गई थी।मौसम विभाग का अनुमान है कि दो से तीन दिनों में मानसून मजबूत होगा और रफ़्तार पकड़ेगा,जिसकी वजह से पूर्वांचल के जिलों में झमाझम बारिश होने के आसार है।

आंचलिक मौसम केंद्र के निदेशक जेपी गुप्ता ने बताया कि मानसून यूपी में प्रवेश तो कर चुका है,लेकिन वह अभी कमजोर है।लिहाजा लखनऊ और उसके आस-पास के क्षेत्र में बारिश के लिए इंतजार करना होगा। उन्होंने कहा कि अनुमान के मुताबिक आगामी पांच दिनों में मानसून लखनऊ तक पहुंच सकता है।हालांकि उन्होंने कहा कि बादलों की आवाजाही की वजह से तापमान में गिरावट देखने को मिल सकती है।


लखनऊ मौसम विभाग के मुताबिक राज्य में कहीं भी तापमान 40 डिग्री सेल्सियस के ऊपर नहीं हैं। झांसी, आगरा, अलीगढ़ जैसे जिलों में अधिकतम तापमान सामान्य से चार डिग्री सेल्सियस से कम दर्ज किया गया। वहीं मुजफ्फरनगर और मेरठ का तापमान 33 डिग्री सेल्सियस से कम रहा।


More news