अग्निपथ के विरोध में कोचिंग संचालकों पर सवाल, पुलिस ने 160 कोचिंग सेंटर को भेजा नोटिस
अग्निपथ के विरोध में कोचिंग संचालकों पर सवाल, पुलिस ने 160 कोचिंग सेंटर को भेजा नोटिस

21 Jun 2022 |  27



शुभम कुमार यूपी क्राइम हेड

आगरा।केंद्र सरकार की सेना भर्ती की नई अग्नि‍पथ योजना को लेकर देशभर में युवाओं ने तमाम विरोध-प्रदर्शन शुरू किये थे।आगरा में भी युवाओं ने कई जगह पर प्रदर्शन किए थे।इसको लेकर आगरा जोन पुलिस ने कड़ी कार्रवाई करनी शुरू कर दी है।पुलिस को खुफिया जानकारी मिली थी कि कुछ कोचिंग संचालकों ने युवाओं को प्रदर्शन के लिए भड़काया था।ऐसे में पुलिस ने आगरा के 160 कोचिंग संचालकों को नोटिस भेजा है।

भड़काने में सोशल मीडिया का सहारा

अग्निपथ योजना को लेकर आगरा में कई जगह युवाओं ने जमकर बवाल काटा था।मलपुरा थाना क्षेत्र में हाईवे पर युवाओं ने थाना प्रभारी की गाड़ी में तोड़फोड़ कर हाईवे पर अराजकता फैलाई।ऐसे में पुलिस अब आरोपियों की पहचान कर उन पर कार्रवाई करना शुरू कर दिया है।पुलिस के मुताबिक युवाओं को भड़काने में सोशल मीडिया का सबसे बड़ा हाथ है।पुलिस ने जिन आरोपियों को गिरफ्तार किया है।उन आरोपियों के मोबाइल की जब जांच की गई तो उसमें कई ऐसे भड़काऊ मैसेज मिले हैं जो इस बवाल के पीछे का कारण दिखाई दे रहे हैं।इसके बाद आगरा जोन पुलिस ने लगभग 160 कोचिंग संचालकों को नोटिस थमाया है।

कोचिंग संचालकों पर अपनाया कड़ा रुख

पुलिस ने बताया कि शहर में बिना रजिस्ट्रेशन के कई कोचिंग सेंटर चलाए जा रहे हैं।इन सभी पर अब शिकंजा कसा जाएगा।जिले में जो युवा अग्‍न‍िपथ योजना का विरोध कर रहे थे।उनके मोबाइल पर बवाल को लेकर राजस्थान से कई मैसेज आए हैं।उसके बाद युवाओं ने अग्निपथ योजना के विरोध में सोमवार को भारत बंद का मैसेज वायरल किया था।इस कारण आगरा के सभी हाईवे, एक्सप्रेस, बस स्टैंड और रेलवे स्टेशन पर पुलिस और पीएसी की तैनाती कर दी गई थी।पुलिस को मोबाइल की जांच पड़ताल में जानकारी मिली कि कुछ कोचिंग संचालक भी इस उपद्रव में शामिल हैं।इसलिए पुलिस ने अब कोचिंग संचालकों पर कड़ा रुख अपना लिया है।

248 पंजीकृत कोचिंग सेंटर

एडीजी जोन आगरा राजीव कृष्ण ने बताया कि आगरा जोन में करीब 248 पंजीकृत कोचिंग सेंटर हैं।इनमें से 160 कोचिंग सेंटर के संचालकों को नोटिस भेजा गया है। सभी कोचिंग संचालकों को नोटिस का जल्द से जल्द जवाब देना है।

आपको बता दें कि कोचिंग संचालकों को पुलिस की तरफ से भेजे गए नोटिस से खलबली मच गई है। जो कोचिंग सेंटर जिले में बिना पंजीकरण के चल रहे हैं, उन संचालकों पर उत्तर प्रदेश कोचिंग विनियम एक्ट एक लाख रुपये का जुर्माना भी वसूल सकता है।


More news