भाजपा एम‌एलसी ऋषि पाल सिंह की कभी भी हो सकती है गिरफ्तारी,जानें क्या है मामला
भाजपा एम‌एलसी ऋषि पाल सिंह की कभी भी हो सकती है गिरफ्तारी,जानें क्या है मामला

24 Jun 2022 |  38





अलीगढ़।चार साल पहले घर में घुसकर मारपीट करने के मामले में अलीगढ़- हाथरस स्थानीय विधान परिषद सदस्य व भारतीय जनता पार्टी के जिलाध्यक्ष और उनके दो बेटों समेत 9 लोगों के खिलाफ एनबीडब्ल्यू जारी किया गया है।पुलिस गिरफ्तार करने के लिए लगातार दबिश दे रही।भाजपा एमएलसी की किसी भी समय गिरफ्तारी हो सकती है,या फिर वे कोर्ट में सरेंडर कर सकते हैं।

भाजपा एमएलसी की तलाश में पुलिस

चार साल पहले घर में घुसकर मारपीट करने के मामले में अलीगढ़ के स्थानीय एमएलसी और भाजपा जिला अध्यक्ष ऋषि पाल सिंह उनके दो बेटों समेत 9 लोगों के खिलाफ कोर्ट ने रिवीजन याचिका खारिज होने के बाद गैर जमानती वारंट जारी कर दिया है।एनबीडब्ल्यू के आधार पर पुलिस ने आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए उनके अतरौली स्थित खेरा पतान आदि कई स्थानों पर दबिश दी है।आरोपी पुलिस की गिरफ्त में नहीं आ पाए हैं।

सीओ अतरौली विशाल चौधरी ने बताया कि एमएलसी समेत सभी 9 आरोपियों के खिलाफ गैर जमानती वारंट के आधार पर कोतवाली पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए उनके अतरौली आवास पर दबिश दे रही है।गिरफ्तारी का प्रयास भी किया जा रहा है।

इनके खिलाफ हैं गैर जमानती वारंट

कोर्ट ने 11 जुलाई 2018 की घटना में भाजपा एमएलसी और जिला अध्यक्ष ऋषि पाल सिंह, प्रशांत, बिट्टू, बबलू, गौरव शर्मा, श्यामसुंदर भारद्वाज, एमएलसी के बेटे तपेश उर्फ विवेक चौधरी, हिमांशु और विष्णु के नाम गैर जमानती वारंट जारी किया गया है।इन सभी आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस दबिश दे रही है।जल्द ही आरोपी गिरफ्तार किए जा सकते हैं या वे कोर्ट में सरेंडर कर सकते हैं।

जानें क्या था मामला

आपको बता दें कि मामला 11 अप्रैल 2018 का है।जब ऋषि पाल सिंह भाजपा के एमएलसी नहीं चुने गए थे।तब अतरौली के मोहल्ला मुगलान निवासी भाजपा के पूर्व जिला मंत्री अतुल गुप्ता के भतीजे यश गुप्ता, ऋषभ गुप्ता अपनी दुकान पर बैठे थे।तभी मोटरसाइकिल खड़ी करने को लेकर युवाओं में आपस में विवाद हुआ।युवकों ने फोन करके 8-10 लोगों को बुलाया, लाठी-डंडों से लैस आरोपियों ने घर में घुसकर मारपीट की, जिससे भाजपा के पूर्व जिला मंत्री अनिल गुप्ता के भतीजे को गंभीर चोटें आई।


More news