चौपाटी पर 'मेक इन इंडिया' सम्मेलन का होना अब सुप्रीम कोर्ट के हाथ में
मुंबई: मुंबई के मशहूर चौपाटी बीच पर क्या विदेशी निवेशकों को लुभाने का कार्यक्रम हो पाएगा - इसका फैसला सुप्रीम कोर्ट के हाथ में है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उपस्थिति में 13 फरवरी से मुंबई में शुरू होने वाला छह दिन का निवेशक सम्मेलन सवालों के घेरे में है।

02 Feb 2016 |  792



मुंबई: मुंबई के मशहूर चौपाटी बीच पर क्या विदेशी निवेशकों को लुभाने का कार्यक्रम हो पाएगा - इसका फैसला सुप्रीम कोर्ट के हाथ में है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उपस्थिति में 13 फरवरी से मुंबई में शुरू होने वाला छह दिन का निवेशक सम्मेलन सवालों के घेरे में है। गौरतलब है कि पिछले हफ्ते हाईकोर्ट ने इस सम्मेलन को चौपाटी बीच पर किए जाने की महाराष्ट्र सरकार की इच्छा पर पानी फेर दिया था।

'मेक इन इंडिया' अभियान के तहत होने वाले इस कार्यक्रम में 10 हज़ार लोगों के भाग लेने का अनुमान लगाया जा रहा है। इस कार्यक्रम में महाराष्ट्र सरकार, भावी निवशकों के सामने मुंबई को आर्थिक अवसरों से संपन्न एक सांस्कृतिक केंद्र की तरह प्रस्तुत करना चाह रहा है। बॉलीवुड के शीर्ष कला निर्देशक नितिन देसाई को इस कार्यक्रम में सेट लगाने के लिए नियुक्त किया गया है। अंग्रेज़ी अखबार इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में उद्योग मंत्रालय के वरिष्ठ अफसर अपूर्व चंद्रा ने कहा यह एक कार्निवल की तरह होगा, यहां सब आ सकते हैं। हम चाहते हैं कि पूरा शहर यहां आए और मुंबई के रंग में रंग जाए।