रामभक्‍तों के लिए बड़ी खुशखबरी,रामलला के साथ अब सरयू दर्शन होगा यादगार
रामभक्‍तों के लिए बड़ी खुशखबरी,रामलला के साथ अब सरयू दर्शन होगा यादगार

26 Jan 2024 |  61




अयोध्‍या।रामभक्तों के लिए बड़ी खुशखबरी है।रामनगरी अयोध्या में अब इलेक्ट्रिक सोलर क्रूज चलाने की कवायद शुरू हो गई है।कोचिन से कोलकाता के रास्ते बिहार होते हुए 14 दिन की यात्रा करते हुए एक सोलर क्रूज गुरुवार को रामनगरी अयोध्या पहुंचा।रामनगरी में जल्द वाटर मेट्रो की शुरुआत होने जा रही है।इससे पर्यटक और रामभक्‍त रामनगरी से गुप्‍तार घाट तक सोलर क्रूज में सरयू के दर्शन का लुत्फ ले सकेंगे। अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस वाटर क्रूज को 40 मिनट में चार्ज कर लिया जाएगा और एक दिन में कई श्रद्धालुओं को यादगार अनुभव कराएगा।यह क्रूज दिन में तीन बार श्रद्धालुओं को सेवाएं देगा।अयोध्या से गुप्तार घाट की दूरी तय करेगा।बरहाल अभी इसका किराया तय नहीं हो पाया है।इसमें एक बार में 50 यात्री सफर कर सकेंगे।यह पूरी तरह से एयर कंडीशंड हैं।

बता दें कि गुप्‍तार घाट में प्रभु श्रीराम ने जलसमाधि ली थी।सरयू नदी के किनारे स्थित इस गुप्तार घाट पर कई मन्दिर हैं।यहां मोक्ष पाने की इच्छा लेकर श्रद्धालु आते हैं।इसका नवनिर्माण 19वीं सदी में राजा दर्शन सिंह ने करवाया गया था।यहां राम जानकी मंदिर, पुराने चरण पादुका मंदिर, नरसिंह मंदिर और हनुमान मंदिर लोगों की आस्था का केंद्र हैं।यह पूर्ण रूप से इलेक्ट्रिक क्रूज चार्ज होकर चलता है। इसमें कार्बन क्रेडिट मिलता है,इसमें कार्बन की सेविंग भी होती है।अभी यह इंडियन गवर्नमेंट अथॉरिटी के पास है।इसे स्टेट गवर्नमेंट को हैंड ओवर किया जाएगा।स्टेट गवर्नमेंट फिर अपने हिसाब से इसका संचालन करेगी।

रामभक्‍तों ने कहा है कि यह मोदी सरकार का गिफ्ट है।अभी बोट के जरिए गुप्‍तार घाट तक पहुंचते थे, लेकिन वाटर मेट्रो शुरू हो जाने से समय की बचत होगी और यह अपेक्षाकृत अधिक सुरक्षित होगी।रामभक्‍तों ने कहा कि राम नगरी में बड़ी सौगातें मिली हैं।

More news