दुनिया में काबुल धमाकों से मचा हड़कंप, यूएस,फ्रांस और ब्रिटेन ने बुलाई आपात बैठक
दुनिया में काबुल धमाकों से मचा हड़कंप,यूएस,फ्रांस और ब्रिटेन ने बुलाई आपात बैठक

27 Aug 2021 |  179



 



अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के पास गुरुवार को तीन धमाके हुए हैं।इन तीन धमाकों में 10 अमेरिकी सैनिक समेत 60 से अधिक लोगों की जान चली गई।

तालिबान का अफगानिस्तान पर कब्जा होने के बाद वहां स्थिति लगातार खराब ही होती जा रही हैं।

अल जज़ीरा की रिपोर्ट के मुताबिक हमले में डेढ़ सौ से अधिक लोगों की गंभीर रूप से घायल होने की खबर है। पेंटागन ने काबुल हवाई अड्डे पर हुए धमाके की पुष्टि की है।पेंटागन के प्रेस सचिव जॉन किर्बी ने एक ट्वीट में बताया है कि पहला धमाका एयरपोर्ट के आबे गेट पर हुआ,जबकि दूसरा धमाका एयरपोर्ट के पास बरून होटल के करीब हुआ।इस होटल में ब्रिटेन के सैनिक ठहरे हुए थे वहीं, एयरपोर्ट के पास तीसरा धमाका भी हुआ है।



अमेरिका ने काबुल में हुए सिलसिलेवार धमाकों के बाद अफगानिस्तान में रह रहे अपने नागरिकों के लिए एडवाइजरी जारी की है।अमेरिका ने नागरिकों से काबुल हवाई अड्डे के पास न जाने के लिए कहा है।अमेरिकी दूतावास की ओर से कहा गया कि हवाई अड्डे के पास बड़ा धमाका हुआ है।अफगानिस्तान में रह रहे अमेरिकी नागरिकों को इस समय हवाई अड्डा या उसके पास जाने से बचना चाहिए।अमेरिका ने कहा कि जो भी अमेरिकी नागरिक आबे गेट, ईस्ट गेट, नॉर्थ गेट के पास हैं, वो वहां से दूसरी जगह चले जाएं।



फ्रांस ने काबुल धमाकों पर बड़ी कार्रवाई की है।राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने अफगानिस्तान से अपने राजदूतों को वापस बुलाने की बात कही है,और कहा कि आने वाले राजदूत अब पेरिस से काम करेंगे।मैक्रों ने कहा ​कि फ्रांस काबुल से अधिक से अधिक अफगानी नागरिकों को निकालने की कोशिश करेगा।

भारत और अमेरिका समेत कई देश काबुल हवाई अड्डे पर पिछले कई दिनों से अपने नागरिकों को वापस ला रहे हैं।  हजारों की संख्या में नागरिकों का भी रेस्क्यू किया जा चुका है।



काबुल धमाकों के बाद ब्रिटेन सरकार भी  एक्शन में आ गई है।ब्रिटेन ने काबुल में सिलसिलेवार धमाकों को लेकर आपत बैठक बुलाई है।इससे पहले ब्रिटेन और अमेरिका ने अफगानिस्तान में ​किसी भी आतंकी हमले की आशंका जताई थी।दोनों देशों ने अपने नागरिकों को पूरी सावधानी बरतने के लिए कहा था।दोनों देशों ने कहा था कि खूंखार आतंकी संगठन आईएसआईएस धमाके को अंजाम दे सकता है। इजरायली प्रधानमंत्री और अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के बीच होने वाले बैठक को भी काबुल धमाकों की वजह से स्थगित कर दिया गया है।



More news