दबंगों के हौसले बुलंद,दलितों की नही चढ़ने दी बारात,सात के खिलाफ मुकद्दमा दर्ज
दबंगों के हौसले बुलंद,दलितों की नही चढ़ने दी बारात,सात के खिलाफ मुकद्दमा दर्ज

24 Feb 2023 |  472



दबंगों के हौसले बुलंद,दलितों की नही चढ़ने दी बारात,सात के खिलाफ मुकद्दमा दर्ज

मारहरा के गांव लालपुर देहामाफी गांव में दलित दूल्हे की बारात से ठाकुरो को आपत्ति

एटा।उत्तर प्रदेश के एटा जिले में दबंगों ने अनुसूचित जाति के दूल्हे की बारात नहीं निकलने दी।जब दुल्हन के पिता ने 112 नंबर पर शिकायत दर्ज करवाने के बाद मौके पर पुलिस पहुंच गई। पुलिस की मौजूदगी में बरात तो निकली, लेकिन बाद में दबंगों के आक्रोश का शिकार लड़की के घरवालों को होना पड़ा। बताया गया है कि लड़की के घर वालों को दबंगों ने जान से मारने की धमकी दे डाली, जिसके बाद पुलिस ने सात नामजद और अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

रामप्रकाश मेहनत मजदूरी करके अपने परिवार का भरण पोषण करते हैं। रामप्रकाश के कुल चार बच्चे है,जिस बेटी की शादी थी वह दूसरे नंबर की है और उससे छोटे उसके तीन भाई है। जबकि एक बड़े भाई की शादी हो चुकी है।

दरअसल पूरा मामला जिले के मारहरा थाना क्षेत्र के गांव लालपुर देहामाफी का है। यहां बुधवार की रात गाजियाबाद से अनुसूचित जाति का दूल्हा बरात लेकर आया। तहरीर के अनुसार बुधवार की रात करीब 11:45 पर बारात चढ़ने की बारी आई तभी दबंगों ने बरात चढ़ने से रोक दी। बैंड में साथ चल रहे जेनरेटर के तार निकाले दिए। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और बरात चढ़वाई, लेकिन पुलिस के जाने के बाद दबंगों ने परिजनों और रिश्तेदारों को जान से मारने की धमकी दे डाली।

मेरी बेटी शशी की शादी थी गांव में ठाकुर लोगों ने बारात नहीं घूमने दी।जब बारात घूम रही थी तभी गांव के ठाकुर लोग आ गए और जेनरेटर के तार निकाल दिए और बोले कि तुम्हे पता नही ये ठाकुरों का गांव है।यहां पर बारात नहीं निकलती है। इसके बाद मैंने पुलिस को फोन किया,पुलिस मौके पर आई और चली गई। पुलिस के जाने के बाद ये 10 से 15 लोग आए और बोले अब मै तुमको देखता हूं कैसे रहते हो यहां। फिर मैंने इन लोगों से हाथ जोड़ कर माफी मांगी जिसके बाद में ये लोग वापस चले गए। जल्दी-जल्दी मैंने शादी की रस्में पूरी करवाई फिर मैंने थाना मारहरा में मुकद्दमा दर्ज करवाया है। पुलिस ने अभी तक किसी को गिरफ्तार नही किया है।
रामप्रकाश उम्र 49 वर्ष ,दुल्हन के पिता

गाजियाबाद के स्वदेशी चौक विजयनगर कॉलोनी निवासी धीरेंद्र राव गौरव बरात लेकर गांव लालपुर देहामाफी पहुंचा था। यहां बुधवार की रात करीब 11:45 बजे बैंड-बाजों के साथ बरात चढ़ रही थी। दुल्हन शशि के पिता रामप्रकाश ने बताया कि बरात चढ़ने के दौरान गांव के ही करू सिंह, विवेक, इसका भाई कौशल, टिन्नू, टिंकू, शिवम सिकरवार आदि आए और जेनरेटर के तार निकाल कर फेंक दिए।

इसके बाद बरात नहीं चढ़ाने की धमकी दी। कहा गया कि तुमको पता नहीं कि गांव किस जाति के लोगों का है, यहां बरात नहीं चढ़ने दी जाती है। बताया कि इसके बाद 112 नंबर और क्षेत्राधिकारी सदर को कॉल किया गया। तब गांव में पुलिस पहुंची। इस पर दबंग भाग गए और पुलिस द्वारा बरात चढ़वा दी गई। बरात चढ़वाकर इधर पुलिस गई और उधर दबंगों ने घर में धाबा बोलकर रिश्तेदारों को धमकाया और जान से मारने की धमकी दी।

गांव में इससे पहले भी नही चढ़ी थी बारात

राम प्रकाश ने बताया अभी करीब 4 महीने पहले भी हमारे समाज की एक लडकी की बारात आई थी।इन्ही लोगों ने वह बारात भी नही चढ़ने दी थी। हम लोग बहुत गरीब लोग है मेहनत मजदूरी करके अपना पेट पालते है। इसकी वजह से थाने में कही कोई शिकायत दर्ज नही करवाई थी।

रामप्रकाश बताते है हमारे गांव में की कुल आबादी 700 के आसपास है। जिसमे हम लोगों की जनसंख्या 100 के आसपास है और ठाकुर लोगों की जनसंख्या 500 के करीब है।उन्हें नेता लोग भी जानते है।

दलित की बारात को चढ़वाया था पुलिस ने

आपको बताते चले 12 जनवरी को इसी जनपद एटा के थाना राजा का रामपुर क्षेत्र के राजेंद्र बाल्मिकी की नातिन की शादी के जश्न में दबंगों ने खलल डालते हुए दलितों की बस्ती पर पथराव कर दिया था। जिसमे पुलिस के द्वारा एक भाजपा नेता समेत 15 लोगों के खिलाफ मुकद्दमा दर्ज किया गया था।जिसके बाद में पुलिस सुरक्षा के बीच में बारात चढ़वाई गई थी और उस दलित बेटी की पूरी शादी पुलिस के साए में हुई थी। इस घटना के कुछ ही दिनों बाद ऊंची जाति के लोगों ने इन लोगों का फैसला करवा दिया था।

सीओ सदर सुधांशु शेखर ने बताया कि अनुसूचित जाति के युवक की बरात को रोका गया था। परिजन द्वारा दी गई सूचना पर बारात को चढ़वाया गया। दुल्हन के पिता की तहरीर पर 7 नामजद व अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया गया है। गिरफ्तारी के प्रयास हेतु पुलिस के द्वारा दविश दी जा रही है,आरोपी फरार है।

(इनपुट:शुभम श्रीवास्तव)

More news